रुनिजा के गोरव ने किया कमाल

28 फरवरी रविवार का दिन रूनिजा रतलाम वासियों के साथ देश व प्रदेश के लिए गौरवशाली साबित हुआ जबकि गुदड़ी के लाल गौरव ने ऐसा कमाल किया कि सभी का सीना गर्व से चौड़ा हो गय। रुनिजा(रतलाम) के मजदूर परिवार के बेटे ने इंदौर स्टेडियम में केन्या, अमेरिका, नेपाल, भूटान, चीन, जापान आदि देशों के धावकों को पछाड़ते हुए 42.5 किलोमीटर मैराथन में प्रथम स्थान प्राप्त कर गोल्ड मेडल जीतकर अंतरराष्ट्रीय धावक बनने का गौरव प्राप्त किय। सत्य वीर तेजाजी मंदिर पर सोसायटी और प्रेस क्लब बड़नगर एवं पंचायत परिवार द्वारा साफा बांधकर प्रतीक चिन्ह भेंट कर व पुष्प हार से प्रेस क्लब अध्यक्ष श्याम पुरोहित पंचायत प्रधान प्रतिनिधि कमलदास बैरागी ओएसिस एकेडमी रुनिजा चामुंडा मंदिर विकास समिति के संयोजक अशोक वैष्णव, अध्यक्ष सुनील यादव बस स्टैंड व्यापारी संघ, महाकाल युवा मित्र मंडल रूनिजा, माली युवा संघ आदि ने स्वागत कर बधाई दी।


उसके बाद गौरव की गौरव यात्रा बस स्टैंड से शुरू होकर मुख्य मार्ग से होती हुई मालीपुरा से होकर उसके घर पहुंची। इसके पूर्व शौर्यादल सदस्य मेहरुनिशा बी, वेध, देवेंद्र शर्मा सहित अनेक घरों पर जगह-जगह गौरव का भव्य स्वागत किया गया।
यात्रा में भारत माता की जय के नारे लगाते हुए युवा चल रहे थे। घर-घर गौरव की आरती कर स्वागत कर महिलाएं भी स्वयं गौरान्वित हो रही थी। स्वागत में राजनीतिक दलों के सदस्यों ने बताया कि 25 जुलाई को बांग्लादेश के ढाका में होने वाली मैराथन दौड़ में भारत का प्रतिनिधित्व करेग। इस अवसर पर सभी ने यह निर्णय लिया कि 23 जुलाई को गौरव को तिरंगा यात्रा के साथ शानदार विदाई दी जाएगी ।