क्रिकेट विश्व कप की कहानी जोस चाको की कलम से – 7

७ वाँ वर्ल्ड कप १४ मई९९ से २० जून ९९ में England में खेला गया ।फ़ाइनल में ऑस्ट्रेल्या ने पाकिस्तान को को ८ विकेट से हराया ।टॉस जीतकर पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाज़ी की ।उन्होंने मात्र ३९ ओवर में १३२ रन बनाए ।जिसमें पाकिस्तान की ओर से सबसे ज़्यादा रन इजाज़ अहमद ने २२ ,अब्दुल रज़ाक़ ने १७ रन ,Anwar ने १५ ,कप्तान वसीम अकरम ने ८ रन बनाए । सबसे ज़्यादा एक्स्ट्रा के रूप २५ रन आए । ऑस्ट्रेल्या की ओर से शेन वॉर्न ने ३३ रन देकर ४ विकेट लिए ।मकग्राथ व टॉम मोडी ने २-२ विकेट लिए ।श्ऑस्ट्रेल्या ने लक्ष्य का पीछा करते हुवे मात्र २०.१ ओवर में २ विकेट खोकर १३३ रन बना लिए ओर मेच ८ विकेट से जीत लिया ।ऑस्ट्रेल्या ने दूसरी बार वर्ल्ड कप जीता ओर वेस्ट इंडीस के बाद दो बार जीतने वाली दूसरी टीम बनी ।ऑस्ट्रेल्या की ओर से ऐडम गिल्क्रिस्ट ने मात्र ३६ गेंदो में ८ चोके व १ छके के साथ ५४ रन बनाए । मार्क Waugh ने नाबाद ३७ , रिकी पोंटिंग ने २४ रन बनाए २-India ने इस वर्ल्ड कप में ८ मैच में ४ जीते ४ में हारे । ३- इस वर्ल्ड कप में इंडिया Australia से ७७ रन ,श्साउथ अफ़्रीका से ४ विकेट से , ज़िम्बाब्वे से ३ रन से , न्यू ziland से ५ विकेट हारे। ,India ने पाक से ४७ रन से हराया व केन्या को ९४ रन से ,श्री लंका को १५७ रन से ,England को ६३ रन से हराया । ४- इस वर्ल्ड कप में India की ओर से सबसे ज़्यादा रन द्रविड़ ने ४६१ व सबसे ज़्यादा विकेट श्रीनाथ ने ने १२ विकेट लिए ।५- वर्ल्ड कप में सबसे ज़्यादा रन राहुल द्रविड़ ने ४६१ व विकेट न्यू Zealand के अलॉट ने २० लिए ।६- फ़ाइनल का मैन ऑफ़ the मेच शेन वार्न को मिला । ७-इस वर्ल्ड कप India का प्रदर्शन बहुत ख़राब रहा सूपर सिक्स में अंतिम स्थान ६ वे पर रहा ।८-इस वर्ल्ड कप में man of the सरीस साउथ अफ़्रीका के लान्स klusnar को मिला ।९- अभी तक का सबसे एक तरफ़ा फ़ाइनल रहा । १०-यह वर्ल्ड कप मात्र ३ साल की अवधि में हुआ जबकि वर्ल्ड कप ४ साल में होते है ।अगला अंक २००३ का वर्ल्ड कप ।