क्रिकेट विश्व कप की कहानी जोस चाको की कलम से – 6

६ वाँ वर्ल्ड कप १४फ़रवरी ९६से १७ मार्च ९६में श्री लंका ,पाकिस्तान,इंडिया में खेला गया ।फ़ाइनल में पाक ने ऑस्ट्रेल्या को ७ विकेट से हराया ।टॉस जीतकर श्री लंका ने ऑस्ट्रेल्या को पहले बल्लेबाज़ी दी।उन्होंने ५० ओवर में ७ विकेट पर २४१ रन बनाए ।जिसमें कप्तान मार्क टेलर ने७४,पोंटिंग ने ४५,बेवन ने ३६,रन बनाए । श्री लंका की ओर सेअरविंद डिसलवा ने ३ विकेट लिए ।श्री लंका ने ४६.२ओवर में २४५रन बनाकर यह मेच ७ विकेट से जीत लिया । श्री लंका वर्ल्ड कप जीतने वाली एशिया की तीसरी टीम बनी ।श्री लंका की की ओर सेअरविंद डिसलवा ने १०७ नाबाद रन बनाए ।गुरु सिंघे ने ६५,कप्तान Ranatunga ने नाबाद ४७ रन बनाए ।२-India ने इस वर्ल्ड कप में ७मैच में ४ जीते ३में हारे । ३- इस वर्ल्ड कप में इंडिया Australia से १ ६ रन ,श्री लंका से ६ विकेट से ,श्री लंका से सेमी फ़ाइनल में डिफ़ॉल्ट से हारे। ,India ने पाक से ३९ रन से क्वार्टर फ़ाइनल में हराया व लीग ज़िम्बाब्वे से ४० रन से ,वेस्ट इंडीस को ५ विकेट से ,ओर केनिया को ७ विकेट से हराया ४- इस वर्ल्ड कप में India की ओर से सबसे ज़्यादा रन सचिन ने ५२३ व सबसे ज़्यादा विकेट कुम्बले ने १५ विकेट लिए ।५- वर्ल्ड कप में सबसे ज़्यादा रन मसचिन ने५२३ व विकेटकुम्बले ने १५ लिए ।६- फ़ाइनल का मैन ऑफ़ the मैचअरविंद दे सिलवा को मिला । ७-इस वर्ल्ड कप India का प्रदर्शन सेमी फ़ाइनल में हारा। इस वर्ल्ड कप में Iman of the सरीस सनत जयसूर्या को मिला ।अगला अंक १९९९वर्ल्ड कप ।