क्रिकेट विश्व कप की कहानी जोस चाको की कलम से – 4

प्रस्तुति : जोस चाको

चौथा वर्ल्ड कप ८ October से ८ November १९८७ में इंडिया – पाकिस्तान में खेला गया ।पाक में ७ India २० कुल २७ मैच खेले गए ।यह वर्ल्ड कप रिलायंस कप के नाम से भी जाना जाता है । पहली बार England के बाहर वर्ल्ड कप खेला गया ।इस वर्ल्ड कप से ५० ओवर की शुरुआत हुई ।पहला मैच पाक में पाकिस्तान व श्री लंका के बीच हुआ जिसमें पाक ने लंका को १५ रन से हराया ।२-India ने अपना १ मैच मद्रास में ऑस्ट्रेल्या के विरुद्ध खेला ।यह मैच Australia ने १ रन से जीता ।India ने टॉस जीतकर फ़ील्डिंग चुनी ।Australia ने ५० ओवर में ६ विकेट पर २७० रन बनाए ।Geoff marsh ने ११० ,jones ने ३९ रन बनाए ।प्रभाकर ने ४७- २ विकेट लिए ।Indiaने ४९.५ ओवर में२६९ रन बनाए व १ से हारे ।India की ओर से सिद्दु ने ७३ Srikant ने ७० रन बनाए ।सिद्ध ने इस पारी में ५ सिक्स लगाए ।यह मैच मेने भोपाल में टी॰वी॰पर देखा ।इस वर्ल्ड कप से हम रतलाम वासी यो ने वर्ल्ड कप TV पर देखा ।रतलाम में TV की शुरुआत २ October १९८४ में हुईं ।Australia के स्टीव Wagh ने ५० ओवर की। पाँचवी गेंद पर Maninder को ४ रन पर बोल्ड कर दिया ।व १ रन से जीत दिलायी ।५- India ने लीग में फिर से हुवे मैच में Australiaको दिल्ली में ५६ रन से हराया था ।२- India सेमी फ़ाइनल में England से ३५ रन से हार गया ।स्कोर England २५४ फ़ोर ६ ,gooch ११५,gating ५६ Maninder ३- ५४ ।India २१९ Azharuddin ६४ कपिल ३० sree kant ३१ । इंग्लंड की ओर से हमिंग्स ने ५२ -४ foster ३- ४७ विकेट लिए ।५- फ़ाइनल में Australia ने England को मात्र ७ रन से हराकर पहली बार विजेता होने का स्वाद छका। ५० ओवर में टॉस जीतकर पहले खेलते हुवे ५ विकेट पर २५३ रन बनाए ।डेविड बून ने ७५ ,वलेटा ने ४५ ,jones ने ३३ रन बनाए ।England ५० ओवर में ८ विकेट पर २४६ रन बना सकी व ७ रन से हार गयी ।ऐथीने ५८ lamb ने ४५ गेटिंग ने ४१ रन बनाए ।६- इस tournament ने सबसे ज़्यादा रन ग्राहम गूच ने ४७१ व सबसे ज़्यादा विकेट McDermott ने १७ लिए ।६-Indiaकी ओर से सबसे ज़्यादा रन गावस्कर ने ७ मैच में ५० के ओसत से ३०० रन बनाए । इसमें उनके जीवन का वन डे का एक मात्र शतक लगाया ।Nz के विरुद्ध मात्र ८८ गेंद पर १० फ़ोर व ३ सिक्स लगाकर १०३ no रन बनाए ।व अन्तिम बार इस tournament में खेल रहे थे ।मार्च ८७ में टेस्ट से सन्यास ले चुके थे ।यह India की ओर से इस वर्ल्ड कप में एकमात्र शतक था ।७- इस वर्ल्ड कप में भारत की ओर से सबसे ज़्यादा विकेट Maninder ने ७ मैच में १४ प्रभाकर ७ में ९ लिए ।८- फ़ाइनल मैच Kolkata में ८ November को हुआ ।इस मैच के मैन of the match डेविड बून थे ।अगले अंक में १९९२ वर्ल्ड कप ।