पूछता है Sports Edge


किसी को स्कूल खोलना है तो उसे एक सोसाइटी रजिस्टर करके राज्य शिक्षा बोर्ड अथवा केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय से मान्यता प्राप्त स्कूल शिक्षा बोर्ड से मान्यता लेना अनिवार्य है।

किसी को कालेज खोलना है तो उसे एक सोसाइटी रजिस्टर करके किसी विश्वविद्यालय से मान्यता लेना अनिवार्य है।

अस्पताल खोलना है तो मेडिकल काउन्सिल से मान्यता लेना अनिवार्य है।

कैसे ?

कई प्रदेश के ओलम्पिक संघ मात्र राष्ट्रिय खेल के समय ही नींद से जागते है।

खेल संघ को टूर्नामेंट करवाने के लिए किसी खेल मंत्रालय / विभाग की मान्यता अनिवार्य क्यों नहीं ?

कैसे कोई भी सोसाइटी रजिस्टर करके टूर्नामेंट आयोजित करने लगते है ?

बगैर खेल विभाग की मान्यता के कोई खेल कैसे विद्यालयीन / विश्वविद्यालयीयन खेलों मे शामिल हो जाता है ?

केवल खेल मंत्रालय को छोड़ कर “सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्धम मंत्रालय”, “नीति आयोग” आदि खेल संगठनों को मान्यता प्रदान कर रहे है।

क्या यह खेल व खिलाड़ियों के साथ धोखाधड़ी नहीं है ?