प्रतीक मनोध्या ने (साइक्लिंग)में किया “एन आई एस” और इंटरनेशनल “लेवल 2” कोचिंग कोर्स


खेल एवं युवा कल्याण विभाग मध्यप्रदेश और मध्य प्रदेश एमेच्योर साइकलिंग एसोसिएशन के सानिध्य में प्रतीक मनोध्या ने (साइक्लिंग)में किया “एन आई एस” और इंटरनेशनल “लेवल 2” कोचिंग कोर्स

जबलपुर जिले में 12 वर्ष से साइक्लिंग की ट्रेनिंग कर रहे प्रतीक मनोध्या रानीताल खेल एवं युवा कल्याण विभाग जबलपुर में अभ्यास करते हुए अपने साइकिलिंग कैरियर में मध्य प्रदेश और मध्य प्रदेश एमेच्योर साइकलिंग एसोसिएशन के द्वारा कई नेशनल में खेले हैं और उपलब्धियां प्राप्त करें करे है ,बीते एक डेढ़ साल से प्रतीक मनोध्या NIS पटियाला मैं डिप्लोमा इन स्पोर्ट्स कोचिंग कंप्लीट कर के लौटे हैं साथ ही साथ इंटरनेशनल कोचिंग कोर्स यू सी आई लेवल 2 कोर्स कर जबलपुर लौटे हैं जो कि मध्य प्रदेश में पहली बार किसी ने साइकिलिंग कोचिंग की इतनी बड़ी डिग्री प्राप्त की है और उनकी इच्छा है कि वह मध्यप्रदेश खेल विभाग में कोचिंग देकर प्रदेश खिलाड़ियों के द्वारा प्रदेश का नाम गौरवान्वित करें,
उन्होंने इस उपलब्धि का श्रेय अपने माता-पिता को दिया है जो कि एक खेल परिवार से ताल्लुक करते हैं इसी के साथ उन्होंने मध्य प्रदेश की खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया जी , जिला खेल अधिकारी आशीष पांडे, मध्य प्रदेश एमेच्योर साइकलिंग एसोसिएशन के सचिव भीष्म सिंह राजपूत जी, अध्यक्ष महाधिवक्ता प्रशांत सिंह जी,कोषाध्यक्ष महापौर जगत बहादुर सिंह अन्नू भैया जी और मध्य प्रदेश ओलंपिक संघ के सचिव श्री दिग्विजय सिंह जी सभी के सपोर्ट और मार्गदर्शन के कारण उन्होंने यह उपलब्धि प्राप्त की है।

उल्लेखनीय है कि प्रदेश की राजधानी भोपाल में भी साइकिलिंग का स्तर बहुत बढ़ रहा है जिसमें की बालक में अनंत मेहरा और बालिका में विधि वनडे जो कि 3 बार से नेशनल लेवल पर उत्कृष्ट प्रदर्शन दिखा चुके हैं और खेलो इंडिया यूथ गेम्स में भी सिलेक्ट हुए हैं जो अपना प्रदर्शन व बिना साइकिलिंग कोच के कर रहे हैं । अगर इनको सही मार्गदर्शन और भोपाल में एक साइकिलिंग कोच उपलब्ध कराया जाए तो यह खेलो इंडिया और नेशनल में पदक भी प्राप्त कर सकते हैं और अच्छा परफॉर्मेंस कर दे सकते हैं।