एथलेटिक्स फेडेरशन आफ इंडिया द्वारा आयोजित प्री-लेवल 1 कोचिंग कोर्स के अंतिम दिन आज डोपिंग के ऊपर जानकारी देते हुए पी. राधाकृष्णन ने बताया की वर्तमान डोपिंग एजेंसी द्वारा लिए गए खिलाड़ी के ब्लड/ यूरिन सैंपल को ८ वर्षों तक संरक्षित किया जाता है। ऐसी स्थिति में यदि सेम्पल देने के ६ साल बाद प्रतिबंधित दवा की सूचि में कोई ...