साभार : राजेंद्र सजवान (नई दिल्ली) टोक्यो ओलम्पिक के नतीजों ने भारतीय खेल आकाओं और खिलाडियों को इस कदर आसमान पर चढ़ा दिया था कि उन्हें यह भी याद नहीं रहा कि इम्तहान अभी और भी हैं। आनन फानन में ही खिलाडियों और कोचों को खेल रत्न, द्रोणाचार्य अवार्ड, अर्जुन अवार्ड, पद्म श्री और और लाखों के सम्मान बाँट दिए ...